Thursday, August 18, 2022
HomeSportsपाक के भाला फेंक एथलीट ने नीरज चोपड़ा से दोस्ती पर दिया...

पाक के भाला फेंक एथलीट ने नीरज चोपड़ा से दोस्ती पर दिया बड़ बयान, कहा- हम प्रतिद्वंद्वी नहीं…


Arshad Nadeem On Neeraj Chopra: पाकिस्तान के भाला फेंक एथलीट अरशद नदीम का कहना है कि उन्हें 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा के खिलाफ प्रतिस्पर्धा की कमी महसूस होगी, क्योंकि वे ‘एक’ परिवार का हिस्सा हैं. बता दें कि नीरज ने पिछले महीने विश्व चैम्पियनशिप में 88.13 मीटर के थ्रो से ऐतिहासिक सिल्वर मेडल जीता था, जिसमें अरशद पांचवें स्थान पर रहे थे. हालांकि वह फाइनल्स के लिये क्वालीफाई करने वाले पहले पाकिस्तानी बने थे.

नीरज ने ‘ग्रोइन स्ट्रेन’ के कारण राष्ट्रमंडल खेलों से हटने का फैसला किया जबकि अरशद के ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स के साथ पोडियम पर रहने की उम्मीद है. पीटर्स स्वर्ण पदक के प्रबल दावेदार हैं जिन्होंने हाल में विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था.

अरशद ने पीटीआई से कहा, ‘‘नीरज भाई मेरा भाई है. मुझे यहां उसकी कमी खल रही है. अल्लाह उन्हें स्वस्थ रखे और मुझे जल्द उनके साथ प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिले. ’’

भारत-पाक प्रतिद्वंद्वियों के बीच यह ‘भाईचारा’ 2016 में गुवाहाटी में हुए दक्षिण एशियाई खेलों में हिस्सा लेने के दौरान शुरू हुआ. चार साल पहले जब एशियाई खेलों में नीरज ने स्वर्ण पदक जीता तो अरशद ने कांस्य पदक प्राप्त किया था. तब इस भारतीय ने पाकिस्तानी खिलाड़ी के प्रति गर्मजोशी नहीं दिखायी थी लेकिन अब ऐसा नहीं है.

अरशद ने कहा, ‘‘वह अच्छा इंसान है. शुरू में आप थोड़ा ‘रिजर्व’ रहते हो. जब आप एक दूसरे को जानने लगते हो तो आप खुलने लगते हो. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे बीच बहुत अच्छी मित्रता है. मैं उम्मीद करता हूं कि वह भारत के लिये प्रदर्शन करना जारी रखे और मैं अपने देश के लिये अच्छा करता रहूं. हम दोनों ने प्रभावित किया है. हम एक परिवार की तरह हैं. ’’

अरशद का विश्व चैम्पियनशिप में पांचवें स्थान पर रहना अच्छा प्रदर्शन कहा जा सकता है क्योंकि उन्होंने 2020 तोक्यो ओलंपिक के बाद चोट से वापसी की है. उन्हें अब भी यह कोहनी की चोट है. 25 साल के इस एथलीट ने कहा, ‘‘तोक्यो ओलंपिक के बाद मैंने लंबे अंतराल के बाद विश्व चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया, मैं अपने खेल के बारे में अच्छा महसूस कर रहा हूं. मुझे अब भी कोहनी में चोट है और इसका उपचार चल रहा है. ’’

नीरज के ओलंपिक स्वर्ण पदक ने उन्हें पूरे देश की नजरों में रातों रात स्टार बना दिया. अरशद को वहां तक पहुंचने के लिये लंबा सफर तय करना है लेकिन उनका कहना है कि उन्हें अपनी सरकार से भी काफी समर्थन मिल रहा है. अरशद ने कहा, ‘‘जिस तरह से नीरज भाई को आपके देश में शोहरत मिल रही है, मुझे अपनी सरकार और लोगों से काफी समर्थन मिला है. मैं इसके लिये शुक्रगुजार हूं. ’’

Tejaswin Shankar: टीचर के कहने पर छोड़ा था क्रिकेट, ऐसी है कॉमनवेल्थ गेम्स में पहला हाई जंप मेडल दिलाने वाले तेजस्विन की कहानी

Tulika Maan: बचपन में ही पिता को खो चुकी थीं तुलिका, मां से मिले मजबूत हौंसलों ने बर्मिंघम में दिलाया पदक



Source link

ezhar
ezharhttps://www.grtidea.in
Hye! I am Ezhar Ashraf owner of grtidea.in website; I am a web developer and Youtuber
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments